यूपी के हमीरपुर में योगी सरकार के बढ़ रहे जंगल राज और लगातार हो रही ब्राम्हणो की हत्या के खिलाफ सपा का जबर दस्त प्रदर्शन देखने को मिला. वहीं इस दौरान सपा की पुलिस से नोक झोंक भी हो गई.

आपको बता दे की कुछ दिन पूर्व हुई महोबा में क्रेशर कारोबारी इंद्र कांत त्रिपाठी की हत्या के मामले बुधवार को परिवारीजनों से मिलने सपा नेता व कार्यकर्ता महोबा जा रहे थे. जिन्हें हमीरपुर पुलिस द्वारा हमीरपुर बस स्टैंड पे ही रोक दिया गया…. जिसके बाद सपा जिला अध्यक्ष समेत पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि जितेंद्र मिश्रा के साथ सैकड़ों सपाई धरने पर बैठ गये और आगे जाने की बात कहने लगे. लेकिन पुलिस ने उन्हें आगे जाने नही दिया, और पुलिस ने सपा नेताओं से साथ सैकड़ो सपा कार्यकर्ता को गिरफ्तार कर लिया. और पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि के साथ साथ सपाइयों के घर के बाहर पुलिस तैनात कर दी है… साथ ही जिले की सीमाओं में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया है.

बता दें कि क्रेशर कारोबारी की हत्या के मामले में पूर्व एसपी महोबा आरोपी है सपा जिलाध्यक्ष व पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि जितेंद्र मिश्रा ने बताया कि हम लोग पीड़ित परिवार को संतावना देने महोबा जा रहे थे, लेकिन पुलिस और प्रशासन ने हमें वहां जाने नहीं दिया.