उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कई शहरों और रेलवे स्टेशन के नाम बदल कर अक्सर चर्चा रहे हैं. लेकिन अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आगरा के मुगल म्यूजियम का नाम बदल कर एक बार फिर चर्चा में आ गए हैं. बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुगल म्यूजियम का नाम बदलकर छत्रपति शिवाजी महाराज कर दिया गया है, यूपी के मुख्यमंत्री ने सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आगरा मंडल के विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान इस आदेश को मंजूरी दी है. इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारे नायक मुगल नहीं हो सकते, शिवाजी महाराज हमारे नायक है.

सीएम योगी ने कहा कि आगरा में निर्माणधीन मुगल म्यूजियम अब छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर स्थापित होगा. उत्तर प्रदेश सरकार राष्ट्रवादी विचारों को पोषित करने वाली है. गुलामी की मानसिकता के प्रतीक चिन्हों को छोड़, राष्ट्र के प्रति गौरवबोध कराने वाले विषयों को बढ़ावा देने की आवश्यकता है. बता दें कि ताजमहल पूर्वी गेट पर म्यूजियम बन रहा है. इस परियोजना को पूर्व की अखिलेश सरकार ने 2015 में मंजूरी दी थी.

बता दें कि इसमें मुगलिया वैभव के साथ छत्रपति शिवाजी महाराज से जुड़ी चीजें और दस्तावेज भी नजर आएंगे. छत्रपति शिवाजी महाराज के लिए म्यूजियम में गैलरी बनाने का निर्देश भी किया गया हैं. इस गैलरी में छत्रपति शिवाजी के आगरा संबंध और यहां से कैद से निकले जाने से जुड़े दस्तावेजों को प्रदर्शित किया जाएगा. जानकारी के मुताबिक, इस म्यूजियम को 140 करोड़ रुपए की लागत से बनाया जाएगा. इस म्यूजियम को जरदोजी, मार्बल इनले कला को समर्पित सेंटर बनाने की तैयारी है, साथ ही मुगलिया इतिहास के अलावा इस म्यूजियम में छत्रपति शिवाजी महाराज से जुड़ा इतिहास भी बयां किया जाएगा.