रिया चक्रवर्ती को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने गिरफ्तार कर लिया है. रिया चक्रवर्ती की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेशी में कोर्ट ने उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. रिया के वकील सतीश मानशिंदे ने कोर्ट के सामने अपील की थी कि रिया चक्रवर्ती को बेल दी जाए. रिया चक्रवर्ती का सीधे तौर पर ड्रग कंज्यूम करने का कोई सबूत नहीं मिला है. जिन लोगों को गिरफ्तार किया गया, वे सुशांत के लिए और उनके अंडर में काम करते थे. इन्हीं आधारों पर रिया चक्रवर्ती के जमानत की मांग की गई थी. लेकिन कोर्ट ने रिया चक्रवर्ती की जमानत अर्जी खारिज कर दी है, जिसके बाद अब रिया को 14 दिन न्यायिक हिरासत में गुजारनी होंगे. हालांकि रिया कल सेशन कोर्ट में जमानत के लिए अपिल कर सकती है

वहीं एनसीबी ने रिया चक्रवर्ती के मामले में कोर्ट से 14 दिन की न्यायिक हिरासत मांगी थी. रिया के वकील ने इस मामले में जमानत की मांग थी. एनसीबी के अधिकारी रिया के भाई शोविक चक्रवर्ती, सुशांत के हाउस स्टाफ दीपेश सावंत और सैमुअल मिरांडा के मामले में कस्टडी बढ़ाए जाने की मांग नहीं करेंगे. उनके लिए भी एनसीबी ने न्यायिक हिरासत की मांग की थी. प्रेस कॉन्फ्रेंस में एनसीबी के डिप्टी डायरेक्टर एम ए जैन ने बताया कि हम सभी के लिए न्यायिक हिरासत मांगेंगे लेकिन बेल की मांग किए जाने पर हम इसका विरोध करेंगे.

एनसीबी को लगता है कि पिछले तीन दिन में जो जानकारी रिया ने दी है वो काफी है इसलिए अब आगे पूछताछ की जरूरत नहीं है. एनसीबी ने पहले दिन रिया चक्रवर्ती से तकरीबन 6 घंटे तक पूछताछ की थी. दूसरे दिन रिया से करीब 8 घंटे तक पूछताछ चली और फिर मंगलवार तीसरे दिन 3 घंटे तक चली पूछताछ के बाद रिया चक्रवर्ती को NCB ने गिरफ्तार कर लिया .

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड मामले में ये अब तक की सबसे बड़ी गिरफ्तारी है. हालांकि ये गिरफ्तारी ड्रग पैडलिंग मामले में है. जहां तक सुशांत सिंह राजपूत की मौत की वजह की बात है तो वो सवाल अब तक जैसे का तैसा ही बना हुआ है