उत्तर प्रदेश के जनपद शाहजहाँपुर के जिला महिला अस्पताल में उस समय हड़कंप मच गया जब प्रसव के दौरान प्रसव पीड़ित महिला राखी की मौत हो गई है। तो वहीं मृतक महिला की बहन काजल ने डॉक्टर पर रुपये लेकर इलाज़ करनें के साथ साथ इलाज़ में लापरवाही बरतने का भी लगाया आरोप जहाँ प्रसव पीड़िता का इलाज़ के दौरान मौत हो गई है। जिससे गुस्साए परिजनों ने अस्पताल के अंदर हंगामा काटना शुरु कर दिया जहाँ मृतक महिला की बहन काजल ने अपनीं बहन राखी की मौत का ज़िम्मेदार डाक्टर किरन को बताया हैं।

मामला शाहजहाँपुर मेडिकल कालेज के महिला जिला अस्पताल का है। जहां पर राखी पत्नी संजीव राठौर निवासी चौभूर्जी प्रसव पीणा के दौरान मेडिकल कालेज में स्थित महिला अस्पताल के प्रसूतिगृह में परिजन रविवार को काजल को लेकर पहुँचे जहां पर डाक्टर किरन से देखनें के लिए कहा लेकिन डाक्टर किरन ने पहले देखनें से मना कर दिया और देखनें के लिए आना कानी करती रही जब काजल राठोर ने कहा कि मेरे पास आयूषमान कार्ड भी हैं । लेकिन डाक्टर किरन ने फ़िर भी साफ मना कर दिया जिसके बाद मृतक महिला की बहन के द्वारा काफ़ी हां हुजूरी औऱ खुशामद करनें के बाद प्रसव पीड़िता का इलाज चालू कर दिया गया वहीं गंभीर हालत बताते हुए प्रसव पीड़िता के परिजनों से रुपए की मांग की जहाँ डॉक्टर के द्वारा आठ हज़ार रुपये जमा करा लिए गए जिसके बाद आपरेशन शुरु किया गया वहीं ऑपरेशन के तत्काल बाद प्रसव पीड़िता की हालत गड़बड़ होनें लगी तो परिजनों द्वारा कई बार डॉक्टरों को सूचना दी गई लेकिन उसके बाबजूद भी कोई भी डॉक्टर प्रसव पीड़ित महिला को देखनें नहीं आया जहाँ प्रसव पीड़ित महिला की हालत औऱ बिगड़ती चली गई जहाँ उसकी कुछ देर बाद मौत हो गई ।

वहीं प्रसव पीड़ित महिला की बहन काजल का कहना है। कि महिला जिला अस्पताल में मौजूद स्टाफ़ औऱ डॉक्टरों ने मुझसे अभद्रता की जबकि में चिल्ला चिल्ला कर कहती रहीं की मेरी बहन की हालत गंभीर है। पहले उसे देख लीजिए लेकिन किसी स्टाफ़ और डॉक्टर ने देखनें की जहमत नहीं उठाई और मेरी बहन यूँ ही तड़प तड़प कर मर गई जिस पर परिवार के लोगों ने अस्पताल के अंदर हंगामा शुरु कर दिया जहाँ जिला अस्पताल में बनी पुलिस चौकी की पुलिस मौके पर पहुँच गई जहाँ मृतक के परिजन इलाज़ करनें वाली महिला डॉक्टर किरन गुप्ता पर रिपोर्ट दर्ज करने को लेकर हंगामा करते रहे। और मृतक राखी का शव ट्राम सेन्टर के बाहर रखकर महिला जिला अस्पताल के खिलाफ हंगामा शुरु कर डॉक्टर किरन गुप्ता के खिलाफ जमकर नारे बाज़ी शुरु कर दी जिसकी सूचना विश्व हिंदू रक्षा दल के राष्ट्रीय अध्यझ राहूल शूक्ला और जितिन तिवारी अपनीं टीम के साथ भी मौके पर पहुँच गए जिससे मामला औऱ तूल पकड़ता चला गया इसी बीच शहर कोतवाली प्रवेश सिंह मौके पर पहुँच गए और पुरी बात सुनकर डाक्टर किरन गुप्ता के खिलाफ तहरीर लेकर शव को शव गृह में रखवा दिया गया औऱ परिजनों को आश्वासन दिया गया है। कि पोस्टमार्टम पैनल के आधार पर कराया जाएगा जिसकी रिपोर्ट आनें के बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी परिजनों को आश्वासन देंनें के बाद मामला शांत हो पाया है।