यूपी के हमीरपुर जनपद में भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ी सरीला नगर पंचायत, सभासदों ने अपनी ही चेयरमैन के वित्तीय अधिकार सीज कराने एवं टी.ए.सी. जांच करने की मांग देखे रिपोर्ट।


नगर पंचायत सरीला में व्याप्त भ्रष्टाचार की शिकायत को लेकर नगर पंचायत के अधादर्जन से अधिक सभासद आयुक्त महोदय से उनके आवास मयूर भवन में मिले, सभासदों ने सरीला नगर पंचायत में ब्लाक रोड से ममना स्टैंड तक बनाई गई सी सी सड़क, सुशील लखेरा से ब्लॉक रोड तक बनी सी सी सड़क, जगत गुप्ता के मकान से ममना स्टैंड तक नाला निर्माण में मानक के विपरीत एवं सड़क में घटिया सामग्री लगाए जाने व नीचे के कोड ना डाले जाने की शिकायत एवं कार्यों की तकनीकी जांच कराए जाने की मांग की, अस्थाई गौशाला में जो कार्य किया गया था उसका भुगतान पहले किया जा चुका है फिर भी नगर की चेयरमैन शैफाली सिंह द्वारा अपने गुर्गों को बिना टेंडर प्रक्रिया के पुनः ₹10 लाख के फर्जी भुगतान कराने के लिए आए दिन अधिकारियों एवं वार्ड सदस्यों पर दबाव डाल रही हैं जिसके भुगतान पर रोक लगाई जाए, वहीं सभासदों का आरोप है कि हम सभी लोग जिलाधिकारी महोदय को स्वागत गेटों के फर्जी भुगतान, फागिंग मसीन, निजी वाहनों में डीजल/पेट्रोल, आउटसोर्सिंग के द्वारा अपने निजी महल के कर्मचारियों के नाम पर लाखों रुपए का गवन किया है की शिकायत दी थी परन्तु आज तक इनके खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं हुई सभासदों को 2 साल से नगर पंचायत में घुसने नहीं दिया जा रहा है,

वहीं महिलाओं से फर्जी मुकदमा लगाने की धमकी दी जाती है, इस पर आयुक्त महोदय ने सभासदों को तकनीकी जांच करने का भरोसा दिया, सभी सभासदों ने डीआईजी चित्रकूट रेंज से मिलकर नगर पंचायत में शैफाली सिंह द्वारा सभासदों को अपमानित कराने वा सभासदों पर फर्जी मुकदमे लगवाने की शिकायत की वहीं नटवरलाल, फ्रॉड तरह के लोग जिन पर पहले से कई अपराधिक मुकदमे चल रहे हैं उनके द्वारा कार्यालय में जबरन गुंडई वा सरकारी दस्तावेज गायब करने की शिकायत की एवं जातिसूचक शब्दों का प्रयोग तथा नगर पंचायत की अध्यक्ष शैफाली सिंह की शिकायत करने पर जन से मारने की धमकी देते हैं, स्थानीय पुलिस अपराधियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं करती है डीआईजी ने सभासदों को अपराधियों पर कार्यवाही का आश्वासन दिया।

Don Quixote