आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 72वीं पुण्यतिथि है. 30 जनवरी यानी आज ही के दिन साल 1948 में नाथूराम गोडसे ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को गोली मारकर उनकी हत्या कर दी थी. वहीं इस मौके पर आज देश के कई बड़े हिस्सों में नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ प्रदर्शन होगा. जामिया के छात्रों ने राजघाट तक मार्च निकालने की बात कही है, हालांकि पुलिस  की ओर से परमिशन नहीं मिली है.

बता दें कि विरोधी मार्च के अलावा करीब 60 स्टूडेंट यूनियन आज राजघाट तक मानव श्रृंखला बनाएंगे. ये श्रृंखला शाम 5.10 से 5.17 मिनट तक बनाई जाएगी, क्योंकि इसी समय पर महात्मा गांधी की हत्या की गई थी. वहीं दूसरी ओर यशवंत सिन्हा की गांधी शांति यात्रा भी आज राजघाट पर खत्म होगी.

भले ही आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन उनके विचार आज भी लोगों को प्रेरणा देते हैं. महात्मा गांधी भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के प्रमुख नेता थे. भारत की आजादी में गांधी ने बेहद अहम भूमिका निभाई थी. देश की आजादी के लिए वो कई बार जेल भी गए थे. वहीं नागरिकता संशोधन एक्ट का विरोध कर रहे लोग महात्मा गांधी को अपना प्रेरणा स्रोत मनते हुए गुरुवार को राजघाट पर नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे,  यहां पर मानव श्रृंखला बनाई जाएगी. इसके अलावा जामिया से राजघाट तक मार्च निकाला जाएगा. जन एकता जन अधिकार आंदोलन की अगुवाई में कुल 109 संगठन राजघाट से शांति वन से राजघाट तक मार्च निका लेंगे. ये मार्च हनुमान मंदिर, लाल किला, जामा मस्जिद और दिल्ली गेट से होते हुए राजघाट पहुंचेग. हालांकि, दिल्ली पुलिस ने अभी तक इस मार्च की इजाजत नहीं दी है.