नागरिकता संशोधन बिल (CAA) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) के विरोध में महिलाएं सड़कों पर उतर रही हैं. जहां दिल्ली के शाहीन बाग इलाके में पिछले एक महीने से महिलाएं कानून के खिलाफ सड़कों पर हैं. वहीं अब नागरिकता संशोधन बिल और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर के विरोध में अलीगढ़ में 60-70 अज्ञात महिलाओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. अलीगढ़ सिविल लाइंस के सर्कल अधिकारी (सीओ) अनिल सामनिया ने बताया कि यहां कुछ महिलाओं ने धारा 144 के खिलाफ जाकर प्रदर्शन करने की कोशिश की, जिसके बाद ये कार्रवाई की गई है.

बता दें दिल्ली में शाहीन बाग में हो रहे महिलाओं के धरने के बाद देश के कई अन्य शहरों में भी ऐसे प्रदर्शन होने लगे हैं. वहीं शाहीन बाग में 30 दिन से ज्यादा समय बीत गए लेकिन लोग वहां अभी तक धरने पर बैठे हैं. इस  प्रदर्शन में सबसे आगे महिलाएं ही शामिल  है. तो वही बिहार में भी कई जिलों में CAA और NRC के खिलाफ अनिश्चितकालीन प्रदर्शन शुरू हो गए है. राजधानी पटना के सब्जीबाग और फुलवारी शरीफ में इस तरह के प्रदर्शन 12 जनवरी से ही जारी है. इलाहाबाद में भी इसी तरह का प्रदर्शन हो रहा है.

उधर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के घंटाघर में आज भी नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ मुस्लिम महिलाओं का प्रदर्शन जारी है. घंटा घर पर चल रहे प्रदर्शन में पुलिसिया कार्रवाई के बाद अफरा तफरी का माहौल मच गया है. रविवार सुबह पुलिस ने प्रदर्शनकारी महिलाओं के पास से खाने-पीने के सामान सहित कंबल भी जब्त कर लिया है. जाहिर है शाहीन बाग में महिलाओं के प्रदर्शन को देखते हुए ही  देश के अन्य कई शहरों- कोलकाता, हैदराबाद, मुंबई, प्रयागराज, पटना और इंदौर में महिलाएं नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ सड़कों पर विरोध प्रदर्शन कर रही है.