देश की जानी-मानी वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने निर्भया की मां से अपनी बेटी के दरिंदों को माफ करने का अनुरोध किया है. जहां निर्भया के दरिंदों के लिए अदालत ने नया डेथ वारंट जारी किया है.अब उन्हें एक फरवरी को फांसी पर लटकाया जाएगा तो वहीं  वकील इंदिरा जयसिंह ने निर्भया की मां से अपनी बेटी के दरिंदों को माफ करने को कहा है. इसके लिए  इंदिरा जयसिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का हवाला  भी दिया है, और कहा है कि सोनिया ने जिस तरह राजीव गांधी हत्याकांड की दोषी नलिनी की मौत की सजा माफ कर दी है, ऐसा ही उदाहरण आशा देवी को देना चाहिए.

बता दें कि जब निर्भया की मां आशा देवी ने शुक्रवार को दिल्ली की एक अदालत द्वारा आरोपियों की फांसी की तारीख टालने पर अपनी निराशा व्यक्त की तो उसके कुछ देर बाद ही वकील जयसिंह ने ट्विटर पर उनसे आरोपियों को माफ करने का अनुरोध किया. इंदिरा जयसिंह ने कहा कि वे आशा देवी के दर्द और वेदना को समझती हैं. हम आपके साथ हैं लेकिन मौत की सजा के खिलाफ हैं. वहीं आशा देवी ने इंदिरा जयसिंह की अपील पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि इंदिरा जय सिंह उन्हें सलाह देने वाली कौन होती हैं. उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों की वजह से ही रेप पीड़ितों के साथ इंसाफ नहीं हो पाता है.

बता दें कि दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया गैंगरेप केस के चारों दोषियों के लिए नया डेथ वारंट जारी कर दिया है. अब चारों दोषियों को 1 फरवरी सुबह 6 बजे फांसी पर लटकाया जाएगा. हालांकि इससे पहले निर्भया के दोषियों को 22 जनवरी को सुबह सात बजे फांसी दी जानी थी. लेकिन इनमें से एक दोषी मुकेश ने राष्ट्रपति के पास दया याचिका दायर की थी, राष्ट्रपति ने उसकी दया याचिका खारिज कर दी. इसके बाद पटियाला कोर्ट ने फांसी देने की नई तारीख मुकर्रर की है. वहीं निर्भया की मां आशा देवी का कहना है कि जब तक दोषियों को फांसी पर नहीं लटकाया जाता तबतक मुझे संतुष्टि नहीं मिलेगी, बता दें कि निर्भया के चार दोषियों विनय, अक्षय, पवन और मुकेश के पास कानूनी विकल्प लगभग खत्म हो गए हैं.