दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट से जमानत मिलने के बाद भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद  एक फिर  नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (एनआरसी) के खिलाफ दिल्ली के जामा मस्जिद में हो रहे प्रदर्शन में शामिल हुए. शुक्रवार दोपहर को चंद्रशेखर दिल्ली की जामा मस्जिद पहुंचे और समर्थकों के साथ नागरिकता संशोधन एक्ट का विरोध किया. हालांकि कोर्ट के आदेश के अनुसार, चंद्रशेखर आजाद को 24 घंटे के अंदर दिल्ली से बाहर जाना है.

बता दें कि दिल्ली की एक अदालत ने गुरुवार को भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को जमानत दी थी. इसमें उन्हें कुछ शर्तों के साथ राहत दी गई थी. आजाद को जमानत देते हुए अदालत ने कहा था कि वह चार हफ्तों तक दिल्ली नहीं आ सकेंगे और चुनावों तक कोई धरना आयोजित नहीं करेंगे. वहीं अदालत ने यह भी कहा था कि सहारनपुर जाने से पहले आजाद जामा मस्जिद समेत दिल्ली में कही भी जाना चाहते हैं, तो पुलिस उन्हें एस्कॉर्ट करेगी.

वहीं आज सुबह से ही चंद्रशेखर अलग-अलग जगह का दौरा कर रहे हैं. जामा मस्जिद आने से पहले चंद्रशेखर ने रविदास मंदिर, शीशगंज गुरुद्वारे का भी दौरा किया था. जामा मस्जिद पहुंचने पर चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि वह कोर्ट के आदेश का पालन करेंगे और 24 घंटे के अंदर दिल्ली से बाहर चले जाएंगे.

बता दें कि CAA, NRC के खिलाफ ही बिना इजाजत प्रदर्शन करने की वजह से बीते दिनों दिल्ली पुलिस ने चंद्रशेखर आजाद को गिरफ्तार कर लिया था. चंद्रशेखर काफी दिनों से तिहाड़ जेल में बंद थे, गुरुवार को तीस हजारी कोर्ट ने उन्हें ज़मानत दी थी. साथ ही जमानत देते हुए कोर्ट ने ये भी कहा था कि वह किसी प्रदर्शन में हिस्सा नहीं लेंगे और चार हफ्ते तक दिल्ली से बाहर ही रहेंगे. इसके अलावा उन्हें हर शनिवार को सहारनपुर SHO के सामने हाजिरी लगानी होगी.