दिल्ली की जवाहरलाल नेहरू युनिवर्सिटी में हुई हिंसा को एक हफ्ते से ऊपर हो गया है, जहां एक तरफ दिल्ली पुलिस इस मामले की जांच कर रही है, वहीं दूरसी तरफ इस मामले में लगातार राजनीतिक बयानबाजी भी हो रही है. इसी बीच सोमवार को JNU कैंपस में नया सेमेस्टेर शुरू होगा. इस के लिए जेएनयू प्रशासन ने एक एडवाइज़री जारी कर सभी शिक्षकों पढ़ाई की एक्टिविटी में शामिल होने को कहा है. तो वहीं दूसरी तरफ जामिया में छात्रों की ओर से आज भी  कैंपस के अंदर और बाहर प्रदर्शन किया जा रहा है.

बता दें कि छात्रों ने वीसी दफ्तर का घेराव किया है, छात्रों की ओर से पुलिस एक्शन, हिंसा को लेकर विरोध जताया जा रहा है. छात्रों की मांग है कि वीसी उनके साथ बात करें और उनकी मांग मानी जाए. दिल्ली पुलिस के द्वारा जिस तरह से छात्रों को मारा गया, उसपर एक्शन लिया जाना चाहिए.

जामिया के कैंपस में छात्र लगातार वाइस चांसलर के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं. छात्रों की मांग है कि वीसी बाहर आकर छात्रों से बात करें और पुलिस पर एक्शन लेने की बात करें. यूनिवर्सिटी के कुछ शिक्षकों की ओर से छात्रों को समझाया जा रहा है लेकिन छात्र वीसी के बाहर आने पर अड़े हुए हैं, और वीसी के खिलाफ छात्र लगातार नारे लगा रहे हैं…‘हल्ला बोल…हल्ला बोल…’‘इंकलाब जिंदाबाद…’‘वाइस चांसलर चुप्पी तोड़ो… वाइस चांसलर चुप्पी तोड़ो.

खबर है कि जामिया के कैंपस में प्रदर्शन कर रहे छात्रों से वाइस चांसलर नजमा अख्तर अब से कुछ देर में मुलाकात कर सकती हैं. जामिया के प्रोक्टर और अन्य कुछ सुरक्षाकर्मी नजमा अख्तर के आवास पर पहुंचे हैं, जहां से वे कैंपस में जाएंगे.