आज सिख समुदाय की सालों पुरानी इच्छा पूरी हो ही गई. 550वें प्रकाश पर्व के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐतिहासिक करतारपुर कॉरिडोर देश को समर्पित कर दिया. अब भारत के लोग आसानी  से सिख संगत श्री गुरु नानक देव जी के पाकिस्तान के नरोवाल जिले के गांव करतारपुर स्थित गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के दर्शन करने जा सकेंगे.

प्रधानमंत्री मोदी ने कॉरिडोर का उद्घाटन करने के साथ ही एक जत्थे को कॉरिडोर के रास्ते पाकिस्तान जाने के लिए रवाना भी किया. इस जत्थे में पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह, मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के अलावा सांसद, मंत्री, विधायक और देश के तमाम राज्यों से एक-एक प्रतिनिधि शामिल है.

साथ इस मौके पर लोगों को संबोधित करते हुए PM नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत का अहित करने वाली ताकतों से सतर्क रहें. आज ऐतिहासिक मौका है. गुरु नानकदेव की शिक्षा और सिख इतिहास व साहित्‍य को बढ़ावा देने के कई कदम उठाए गए हैं. कॉरिडोर के शुरू हाेने से सिखाें की मुराद पूरी हुई है. उन्‍होंने गुरु श्री नानकदेव की शिक्षाओं का उल्‍लेख किया। वह थोड़ी देर में यहां करतारपुर कॉरिडोर के इंटरग्रेटेड चेकपोस्‍ट का उद्घाटन करेंगे. इससे पहले वह इस अवसर पर आयोजित अरदास में शामिल हुए.

जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मैं देश को करतारपुर कॉरिडोर समर्पित करता हूं और ऐसा करना मेरे लिए सौभाग्य की बात है. संगत को कार सेवा करते हुए जैसी अनुभूति होती है, वैसा ही अनुभव मुझे हो रहा है. गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व से पहले करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन होना बहुत खुशी की बात है. मैं देश और दुनिया में बसे सभी सिखों को करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन के मौके पर हार्दिक बधाई देता हूं.

पीएम मोदी ने कहा कि अब सिख संगत इस कॉरिडोर के रास्ते पाकिस्तान जाकर गुरुद्वारा साहिब के दर्शन कर सकेगी. यह ऐतिहासिक पल देने के लिए, करतारपुर साहिब के दर्शनों का मौका देने के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का आभार व्यक्त किया. उन्होंने भारत व पाकिस्तान के उन श्रमिकों का भी आभार व्यक्त किया, जिन्होंने दिन-रात लगकर कड़ी मेहनत करके कॉरिडोर का निर्माण कार्य पूरा किया.

साथ ही PM ने गुरु गोबिंद सिंह जी का जिक्र करते हुए कहा कि उनकी स्मृति व उनका संदेश अमर रहे. श्री गुरु नानक देव जी और खालसा पंथ की रिसर्च को बढ़ावा देने के लिए ब्रिटेन, कनाडा में चेयर की स्थापना की गई है. उन्होंने कहा कि गुरु नानक देव जी के संदेशों से नई पीढ़ी का साक्षात्कार हो, इसके लिए कई कार्य व प्रयास चल रहे हैं. कुछ कार्य पूरे हो चुके हैं या फिर पूरे होने वाले हैं. गुरु नानक देव जी से जुड़े स्थानों के लिए एक विशेष ट्रेन भी चलाई जा रही है. सिखों के पांचों तख्तों के लिए ट्रेन व विमान सेवा पर विशेष जोर दिया गया है. केंद्र ने सरकार एक और अहम फैसला लिया है जिसका लाभ दुनिया भर में बसे सिख परिवारों को हुआ है. इससे भारत आकर उन्हें अरदास करने में आसानी होगी.

वहीं उन्‍होंने  Article 370 का जिक्र करते हुए कहा कि  जम्मू-कश्मीर से Article 370 हटने से  सिख परिवारों को भी वे अधिकार मिल पाएंगे जो वहां के लोगों को मिलते थे. भारत की एकता को लेकर गुरु नानक देव जी से लेकर गुरु गोबिंद सिंह जी तक ने जीवन समर्पित किया है।ज में सौभाग्यशाली महसूस कर रहा हूं.