तीसरा विश्व कप जीतने का सपना टूटने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम अब अगले साल होने वाले टी-20 विश्व कप की तैयारी शनिवार को वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन मैचों की सीरीज के उद्घाटन मैच के जरिए करेगी.  वेस्टइंडीज के खिलाफ टी-20 में टीम इंडिया कभी मजबूत प्रदर्शन नहीं कर सकी है. ऐसे में क्रिकेट के इस सबसे छोटे प्रारूप में दबदबा बनाने के लिए भारतीय टीम को दमदार प्रदर्शन करना होगा.

बता दें कि वेस्टइंडीज दौरे पर जाने से पहले भारत के कप्तान विराट कोहली ने कहा था कि 2020 और 2021 में होने वाले वर्ल्ड टी-20 ने यह सुनिश्चित किया कि खिलाड़ियों के पास खेलने के लिए हमेशा कुछ न कुछ हो. इसलिए तीन मैचों की सीरीज में युवा खिलाड़ियों को भी अपना कौशल दिखाने का मौका मिलेगा.

err-2_080319041837

आइए एक नजर डालते हैं कि भारत किस प्लेइंग इलेवन के साथ वेस्टइंडीज के खिलाफ टी-20 में उतर सकता है. रोहित शर्मा और शिखर धवन की जोड़ी पर ओपनिंग का जिम्मा है. रोहित शर्मा टी-20 इंटरनेशनल में सबसे अधिक छक्के लगाने वाले वेस्टइंडीज के दिग्गज क्रिस गेल का रिकॉर्ड तोड़ने के करीब हैं. रोहित ने 94 टी-20 इंटरनेशनल मैचों में अब तक 102 छक्के लगाए हैं, जबकि गेल ने इस फॉर्मेट में सबसे अधिक 105 छक्के लगाए हैं. रोहित शर्मा के नाम टी-20 इंटरनेशनल मैचों में सबसे अधिक रनों का रिकॉर्ड है. रोहित ने 32.37 की औसत से कुल 2331 रन बनाए हैं, जिसमें उनके रिकॉर्ड चार शतक शामिल हैं.

Team-India-Rohit-1

वहीं नंबर 3 पर केएल राहुल को बल्लेबाजी के लिए भेजा जा सकता है. अगर प्रबंधन श्रेयस अय्यर को मौका नहीं देती तो लोकेश राहुल की जगह पक्की नजर आ रही है. राहुल टी-20 इंटरनेशनल क्रिकेट में 1000 रन पूरे करने से मात्र 121 रन दूर हैं. राहुल अगर वेस्टइंडीज के खिलाफ टी-20 में 121 रन बना लेते हैं तो वह टी-20 इंटरनेशनल क्रिकेट में 1000 रन पूरे करने वाले सातवें भारतीय बल्लेबाज बन जाएंगे. राहुल अगर पहले ही मैच में 121 रन बना लेते हैं तो अपनी 25वीं पारी में यह उपलब्धि हासिल कर लेंगे तो वे पाकिस्तानी बल्लेबाज बाबर आजम के 26 पारियों में बनाए गए 1000 रन के रिकॉर्ड को तोड़ देंगे.

err-3_080319041837

नंबर 4 पर खुद कप्तान विराट कोहली उतर सकते हैं. वर्ल्ड कप में हार के बाद विराट कोहली की कप्तानी पर सवाल उठने लगे हैं, ऐसे में विराट पर अच्छे प्रदर्शन का दबाव होगा. तो वहीं  ऋषभ पंत पर विकेटकीपिंग और नंबर 5 पर बल्लेबाजी का दारोमदार होगा. अनुभवी महेंद्र सिंह धोनी के भविष्य को लेकर स्पष्टता नहीं है जिससे पंत अब तीनों प्रारूपों में पसंदीदा विकल्प बन गए हैं. तो क्रुणाल पंड्या ऑलराउडर की भूमिका में होंगे, जो लेफ्ट आर्म स्पिन गेंदबाजी करने के साथ-साथ नंबर 6 पर टीम इंडिया की बल्लेबाजी को मजबूती देंगे.

गेंदबाजी की जिम्मेदारी के लिए  स्पिन डिपार्टमेंट में रवींद्र जडेजा और लेग स्पिनर राहुल चाहर को मौका मिल सकता है. राहुल चाहर को अगर खेलने का मौका मिलता है तो भारत के लिए अपना पहला इंटरनेशनल मुकाबला खेलेंगे.  इस मैच में तेज गेंदबाज नवदीप सैनी भी इंटरनेशनल क्रिकेट में पदार्पण कर सकते हैं, क्योंकि कई सीनियर तेज गेंदबाजों को आराम दिया गया है. वेस्टइंडीज दौर के लिए चुनी गई टी-20 टीम में भुवनेश्वर कुमार ही एकमात्र वरिष्ठ तेज गेंदबाज हैं. तीसरे तेज गेंदबाज के तौर पर खलील अहमद को मौका मिल सकता है.