नई दिल्ली: भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले आज किसान क्रांति यात्रा दिल्ली बॉर्डर पर पहुंच चुका है. दिल्ली पुलिस किसानों को बॉर्डर पर रोकने के लिए लगातार कोशिश कर रही है. पुलिस ने किसानों पर नियंत्रण के लिए पानी की बौछारें की और आंसू गैस के गोले छोड़े. पुलिस के लाठी चार्ज के चलते कई किसानों को चोटें भी आई हैं.

किसानों का एक प्रतिनिधिमंडल अपनी मांगों को लेकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मिलेंगा. दोपहर दो बजे राजनाथ सिंह से मिलकर किसान अपनी मांगे रखेंगे. इससे पहले किसीनों ने सीएम योगी आदित्यनाथ से भी बात की थी. सरकार ने मदद का अश्वासन दिया था. लेकिन किसानों का दावा है कि बातचीत फेल रही..

बिजली रेट में कमी और कर्जमाफी जैसी मांगों को लेकर ये किसान 23 सितंबर को हरिद्वार से चले थे, जो सोमवार को गाजियाबाद में दिल्ली की सरहद तक पहुंच गए. जब किसान बॉर्डर पर पहुंचे तो पुलिस ने उन्हें रोक लिया. आज सुबह जब किसानों ने पुलिस बैरिकेडिंग को पार करने की कोशिश की तो दोनों तरफ से संघर्ष देखने को मिला.

602102018113741.jpg

बड़ी संख्या में आए किसान बैरिकेडिंग पर ट्रैक्टर चढ़ाने लगे. साथ वह बैरिकेड उठाकर भी फेंकने लगे. पुलिस ने जब हालात बेकाबू होते देखे तो पानी की बौछार करना शुरू कर दिया. साथ ही आंसू गैस के गोले भी छोड़े गए. इसके बाद भी जब किसान अपनी जिद पर अड़े रहे और बैरिकेड तोड़कर दिल्ली की सरहद में घुसने की कोशिश करने लगे तो पुलिस ने उन लाठीचार्ज कर दिया और किसानों को खदेड़ने की कोशिश की.

किसान यूनियन के नेता नरेश टिकैत ने दिल्ली में जाने की इजाजत न मिलने पर कहा है कि क्या हम पाकिस्तान चले जाएं. बता दें कि किसानों को दिल्ली में दाखिल होने की इजाजत नहीं दी गई है, बावजूद इसके किसान अपनी जिद पर लड़े हैं. जिसके मद्देनजर दिल्ली-यूपी बॉर्डर को सील कर दिया गया है. ऐहतियातन पूर्वी दिल्ली में धारा-144 लागू कर दी गई है.

इन किसानों की योजना राजघाटसे संसद तक मार्च करने की है. लेकिन दिल्ली पुलिस की तरफ से उन्हें इसकी इजाजत नहीं दी गई है. साथ ही दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर को सील कर दिया गया है. पुलिस ने बेरिगेटिंग कर दी है. यूपी पुलिस और दिल्ली पुलिस ने दिल्ली की तरफ जाने वाले सभी रास्तों को सील कर दिया गया है.

गाजियाबाद से दिल्ली में दाखिल होने वाले रास्ते को भी डाइवर्ट किया गया है. साथ ही साथ दिल्ली से कौशाम्बी और वैशाली की तरफ जाने वाले रास्ते को भी डाइवर्ट किया गया.

kisan-kranti-padyatra-reach-delhi-security-deployed-at-delhi-up-border4_730X365

मुख्यमंत्री से वार्ता रही विफल

हरिद्वार से दिल्ली के लिए भारतीय किसान क्रांति यात्रा सोमवार को साहिबाबाद पहुंच गई. इस दौरान हजारों की संख्या में किसानों ने जीटी रोड को पूरी तरह जाम कर दिया दिल्ली के लिए कूच करने लगे.

जिलाधिकारी और एसएसपी ने करीब एक घंटे तक किसानों को समझाने की कोशिश की लेकिन किसान दिल्ली जाने पर अड़े रहे. देर रात प्रशासन और पुलिस के अधिकारियों के साथ किसानों के एक प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली से वापस लौटे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से हिंडन एयर फोर्स स्टेशन पर मुलाकात की.

मुख्यमंत्री और प्रतिनिधिमंडल के बीच करीब दो घंटे चली वार्ता विफल रही और प्रतिनिधिमंडल के लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने की मांग पर अड़े रहे जिस पर मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्रियों से बातचीत की.