दुबई में खेले जा रहे एशिया कप में आज सबसे बड़ा मुकाबला है, और  साथ ही क्रिकेट के लिहाज से आज भारत के दर्शकों के लिए बड़ा दिन भी है. क्योंकि हाई वोल्टेज मुकाबले के लिए इंतजार की घड़ियां भी अब खत्म होगी हैं. एशिया कप में आज भारत अपने पड़ोसी और परंपरागत प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के सामने होगा. इससे पहले पिछले साल खेली गई चैंपियंस ट्रॉफी के बाद आज दोनों देश पहली बार आमने-सामने होंगे. उस मैच में पाकिस्तान ने भारत को मात दी थी, लेकिन अब भारत का इरादा इसका बदला लेने का होगा.

वहीं पाकिस्तान की टीम एशिया कप में हांगकांग के खिलाफ आठ विकेट से जीत दर्ज करने में सफल रही है, लेकिन पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद मानते हैं कि भारत को हराने के लिए टीम को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा. क्योंकि पिछले आठ वर्षों में भारतीय टीम अपने चिर-प्रतिद्वंद्वी पर भारी रहा है. तब से दोनों टीमों के बीच 11 मुकाबले हुए हैं जिनमें से भारत ने सात जीते हैं जबकि चार में पाकिस्तान को जीत मिली है. अगर एशिया कप की बात की जाए तो भारत ने छह बार पाक पर जीत हासिल की है, जबकि पाकिस्तान की टीम पांच बार भारत के खिलाफ जीत दर्ज कर पाई है.

india-and-pakistan.jpg

इसी के साथ बता दें कि विराट कोहली इस टूर्नामेंट में नहीं खेल रहे हैं. इसमें कोई शक नहीं है कि पिछले कुछ वर्षों में कोहली टीम के लिए सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ी के तौर पर उभरे हैं. ऐसे में पाकिस्तान जैसी मजबूत टीम के सामने बिना कोहली टीम इंडिया का उतरना विरोधी टीम के हौसले बढ़ाएगा. पाकिस्तान के कई खिलाड़ियों ने माना भी है कि कोहली की अनुपस्थिति उनकी टीम के लिए फायदे का सौदा होगी.

वहीं कोहली के न रहते हुए रोहित के ऊपर जिम्मेदारी बढ़ जाती है. उन्हें न सिर्फ अपने बल्ले से रन निकालने होंगे बल्कि एक कप्तान के तौर पर भी अपनी रणनीतियों में पैना पन रखना होगा. रोहित शर्मा की गिनती वनडे प्रारूप में दुनिया के श्रेष्ठ बल्लेबाजों में होती है. हिटमैन रोहित के कंधे पर ओपनर और कप्तान के रूप में दोहरी जिम्मेदारी है. हालांकि वह पहले भी कप्तानी का दायित्व संभाल चुके हैं. आईपीएल में मुंबई इंडियंस को उनके नेतृत्व में खिताबी सफलताएं मिली थी. हालांकि हांगकांग के खिलाफ पहले मैच में वह बड़ी पारी नहीं खेल पाए लेकिन पाक के खिलाफ वह कसर पूरी करना चाहेंगे.

14_09_2018-asia_virat_missed_cup_18425195_174633856

वहीं कोहली की अनुपस्थिति में पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज एम एस धोनी पर सबकी  निगाहें होंगी. दुनिया के बेहतरीन फिनिशर कहलाने वाले धोनी पिछले कुछ समय से पुरानी लय में नहीं है. भारतीय दर्शक उनके हेलीकॉप्टर शॉट देखने को फिर से बेताब होंगे. धोनी को अपने प्रहारक शॉटों के लिए जाना जाता है लेकिन इस साल उनके बल्ले से उस रफ्तार से रन नहीं निकल रहे हैं जिसके लिए वह मशहूर रहे हैं. ऐसे में भारतीय दर्शक यही दुआ करेंगे की माही अपने पुराने अवतार में लौट आएं.

unnamed

जबकि मंगलवार को भारत और हांगकांग के बीच खेले गए मुकाबले में जीत तो भारत की हुई. लेकिन एक समय ऐसा था कि सांसें अटक गई थी. इसी बात का फायदा पाकिस्तान भी लेना चाहेगा. क्योंकि अगर हांगकांग के सामने ही टीम इंडिया की हालत इतनी खराब हो सकती है तो पाकिस्तान से मुकाबला टक्कर भरा होगा.